निहंगों से झड़प में जिस पुलिस अफसर हरजीत सिंह की कलाई कटी थी, अब डीजीपी समेत 80 हजार पुलिसकर्मियों ने उन्हीं के नाम का बैज लगाया

  • 12 अप्रैल को पटियाला में कर्फ्यू पास मांगने पर भड़के निहंगों ने तलवार से हरजीत सिंह की कलाई काट दी थी
  • पीजीआई चंडीगढ़ के डॉक्टरों की टीम ने साढ़े सात घंटे ऑपरेशन करके कलाई को वापस जोड़ दिया था

पटियाला. पंजाब पुलिस के हर जवान ने सोमवार को ‘मैं वी हां हरजीत सिंह’ नारा लगाया। 80 हजार पुलिस जवानों के सीने पर एक ही नाम का बैज दिखा- हरजीत सिंह। पंजाब पुलिस का हर जवान एसआई हरजीत की बहादुरी को अनूठे ढंग से सलाम कर रहा है। डीजीपी दिनकर गुप्ता ने भी अपनी वर्दी पर हरजीत सिंह के नाम का बैज लगाया। हरजीत इस समय चंडीगढ़ पीजीआई में भर्ती हैं। 12 अप्रैल को पटियाला में कर्फ्यू पास मांगने के दौरान भड़के निहंगों ने हरजीत पर हमला कर तलवार से कलाई काटकर अलग कर दी थी। हालांकि, बाद में पीजीआई चंडीगढ़ के डॉक्टरों ने साढ़े सात घंटे तक चले ऑपरेशन में कलाई को जोड़ दिया था।

मुख्यमंत्री अमरिंदर ने वीडियो कॉल से बात की थी, बाद में प्रमोट भी किया

हरजीत के ड्यूटी के प्रति समर्पण और बहादुरी को देखते हुए अमरिंदर सिंह सरकार ने हरजीत को एएसआई से प्रमोट करके एसआई बना दिया। सीएम अमरिंदर ने खुद पीजीआई में भर्ती हरजीत से बात की थी और कहा था कि आप सच में बहुत बहादुर हो। अब सभी पुलिसकर्मी वर्दी पर हरजीत सिंह के नाम का बैज लगाकर ड्यूटी दे रहे हैं। ‘मैं वी हां हरजीत सिंह’ (मैं भी हूं हरजीत सिंह) का नारा भी लगा रहे हैं।

पंजाब के पुलिसकर्मी हरजीत के नाम का बैज लगाया। ‘मैं वी हां हरजीत सिंह’ का बैनर लिया। सूबे के 80 हजार पुलिसकर्मी आज ऐसे ही ड्यूटी करते देखे जा सकते हैं।

मुश्किल वक्त में हौसला बढ़ाने की कोशिश: डीजीपी

डीजीपी दिनकर गुप्ता ने कहा कि यह मुश्किल समय में हरजीत सिंह और अन्य पुलिसकर्मियों का हौसला बढ़ाने की कोशिश है। लोगों से अपील भी है कि वह पुलिस का सहयोग करें। दिखा दीजिए कि कोरोना से जंग में फ्रंटलाइनर्स डॉक्टरों और पुलिस पर हमले हुए तो देश एकजुट हो जाएगा।

गुजरात के डीजीपी ने कहा- हरजीत पुलिसफोर्स के समर्पण का प्रतीक

गुजरात के डीजीपी ने कहा- पंजाब पुलिस के एसआई हरजीत सिंह कोरोना के खिलाफ लड़ाई में देश के पुलिसफोर्स के समर्पण का प्रतीक हैं। विपरीत परिस्थितियों मं कर्तव्य और शांति के लिए उनका समर्पण पुलिसिंग के सर्वश्रेष्ठ परंपराओं को दिखाती है। गुजरात पुलिस उनके जल्द ठीक होने की कामना करता है।

फतेहगढ़ साहिब पुलिस ने कहा- हम सभी कोरोना के खिलाफ लड़ाई में शामिल पुलिसकर्मियों के साथ खड़े हैं

सम्मान से खुश हूं: हरजीत

पीजीआई में भर्ती हरजीत इस सम्मान से बहुत खुश हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि मुझे जीवनभर याद रहने वाला ऐसा सम्मान मिलेगा। मैं डीजीपी, एसएसपी साहब समेत पूरी फोर्स और लोगों का आभारी हूं। मैंने जिंदगी में किसी को कभी ऐसा सम्मान मिलते नहीं देखा, सबका शुक्रिया।’’ डॉक्टरों का कहना है कि हरजीत सिंह की हालत में लगातार सुधार हो रहा है।

Source link